आम जनता की आवाज

Search
Close this search box.

Toughest Exam: भारत की 10 सबसे कठिन परीक्षाएं, पक्की होगी कॉलेज में सीट, पास करके मिलेगी सरकारी नौकरी

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

नई दिल्ली (Toughest Exam in India). स्कूल-कॉलेज से लेकर सरकारी नौकरी तक के सफर में कई परीक्षाएं देनी होती हैं. भारत में आईआईटी, एनआईटी, मेडिकल कॉलेज में एडमिशन के लिए जेईई, नीट व गेट परीक्षा देना अनिवार्य है. सिर्फ कॉलेज में एडमिशन के लिए ही नहीं, सरकारी नौकरी (Sarkari Naukri) के लिए भी यूपीएससी, यूजीसी-नेट, एनडीए जैसी परीक्षाएं देनी पड़ती हैं.

भारत की सबसे कठिन परीक्षाएं दुनिया की सबसे कठिन परीक्षाओं की लिस्ट में भी शामिल हैं (Toughest Exam in World). वैसे तो भारत में हर साल बड़ी संख्या में एंट्रेंस टेस्ट आयोजित किए जाते हैं लेकिन कुछ परीक्षाओं का स्तर बेहद कठिन है. इनमें लाखों उम्मीदवार शामिल होते हैं, जिनमें हर स्तर पर कुछ टॉप परफॉर्मर्स का ही सेलेक्शन हो पाता है.

भारत की सबसे कठिन परीक्षाएं कौन सी हैं?
भारत में विभिन्न स्तरों पर कई परीक्षाएं होती हैं. कुछ एंट्रेंस टेस्ट होते हैं तो कुछ प्रतियोगी परीक्षाएं. कुछ के जरिए देश के सबसे प्रतिष्ठित संस्थानों में एडमिशन मिलता है तो कुछ सरकारी नौकरी के लिए दावेदारी मजबूत करती हैं. यहां देखिए भारत की सबसे कठिन परीक्षाओं की लिस्ट.

1- यूपीएससी परीक्षा (UPSC Exam)- संघ लोक सेवा आयोग की यूपीएससी परीक्षा को सिविल सर्विस परीक्षा व आईएएस परीक्षा भी कहा जाता है (IAS Exam). यह दुनिया की तीसरी सबसे कठिन परीक्षा है. हर साल 15 लाख से ज्यादा उम्मीदवार इसमें शामिल होते हैं. तीन चरणों की इस परीक्षा को पास करके भारत की सबसे प्रतिष्ठित सरकारी नौकरी हासिल कर सकते हैं.

2- आईआईटी जेईई परीक्षा (IIT JEE Exam)- आईआईटी जेईई परीक्षा राष्ट्रीय स्तर का एंट्रेंस एग्जाम है. इसमें सफल होकर आईआईटी, एनआईटी, आईआईआईटी जैसे इंजीनियरिंग संस्थानों में एडमिशन मिलता है. यह दुनिया की दूसरी सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है (JEE Exam). जेईई मेन परीक्षा में पास होने वाले ढाई लाख स्टूडेंट्स जेईई एडवांस परीक्षा देते हैं.

3- एनडीए परीक्षा (NDA Exam)- सेना, नेवी और एयर फोर्स में शामिल होने वाले युवाओं को एनडीए यानी नेशनल डिफेंस एकेडमी में प्रशिक्षण दिया जाता है. हर साल बड़ी संख्या में युवा एनडीए परीक्षा देते हैं. मिलिट्री में शामिल होने की चाह रखने वाले सभी 10+2 पास युवाओं के लिए एनडीए परीक्षा पास करना अनिवार्य है. यूपीएससी साल में दो बार यह परीक्षा आयोजित करवाता है.

4- यूजीसी नेट परीक्षा (UGC-NET Exam)- यूजीसी नेट परीक्षा सिर्फ पोस्ट ग्रेजुएट स्टूडेंट्स के लिए अहम है. इस परीक्षा के जरिए स्कूल और यूनिवर्सिटी स्तर के असिस्टेंट प्रोफेसर और जूनियर रिसर्च फेलोशिप के लिए उम्मीदवारों का सेलेक्शन किया जाता है (UGC NET Exam). जून, 2023 में यूजीसी नेट परीक्षा के लिए 6 लाख से ज्यादा उम्मीदवारों ने आवेदन किया था.

5- इंडियन इंजीनियरिंग सर्विस (IES Exam)- यूपीएससी 3 स्तरों की भारतीय इंजीनियरिंग सेवा परीक्षा का आयोजन करता है. इसमें सामान्य एप्टिट्यूड टेस्ट, ऑब्जेक्टिव टेक्निकल पेपर, टेक्निकल पेपर और इंटरव्यू शामिल है. इस परीक्षा में चयनित उम्मीदवार भारत सरकार के मैकेनिकल और मैनेजीरियल विभागों में काम करते हैं.

6- क्लैट परीक्षा (CLAT Exam)- भारतीय लॉ संस्थानों में एडमिशन के लिए क्लैट परीक्षा पास करना जरूरी है. यह परीक्षा यूजी व पीजी, दोनों स्तरों पर होती है. क्लैट यूजी परीक्षा में 5 विषयों से 150 सवाल पूछे जाते हैं- अंग्रेजी भाषा एंड करेंट अफेयर्स, जनरल नॉलेज, लीगल रीजनिंग, लॉजिकल रीजनिंग और क्वांटिटेटिव टेक्नीक. इन्हें हल करने के लिए 2 घंटे का समय मिलता है.

7- सीए परीक्षा (CA Exam)- आईसीएआई (Institute of Chartered Accountants of India) तीन स्तरीय सीए परीक्षा आयोजित करता है. पहले CPT परीक्षा और फिर IPCC होती है. IPCC के लिए 7 विषय पढ़ने पड़ते हैं. सीए फाइनल परीक्षा आखिरी परीक्षा होती है, जिसका सक्सेस रेट मात्र 8-16% है. इसे पास करने में कई साल भी लग जाते हैं.

8- नीट परीक्षा (NEET Exam)- भारतीय मेडिकल कॉलेजों में दाखिले के लिए नीट परीक्षा देना अनिवार्य है. यह यूजी व पीजी, दोनों स्तरों पर होती है (Medical Colleges in India). इसका आयोजन एनटीए करवाता है. नीट परीक्षा देने के लिए 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा में साइंस बैकग्राउंड होना जरूरी है (फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी और बायोटेक्नोलॉजी).

9- कैट परीक्षा (CAT Exam)- कैट यानी कॉमन एडमिशन टेस्ट एमबीए कॉलेजों में एडमिशन के लिए आयोजित किया जाता है (MBA Entrance Exam). आईआईएम में सिर्फ कैट परीक्षा के स्कोर के जरिए ही दाखिला मिल सकता है. यह साल में एक बार होता है. कैट परीक्षा सिर्फ अंग्रेजी भाषा में दी जा सकती है. कैट एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया देखकर इसकी तैयारी शुरू कर सकते हैं.

10- गेट परीक्षा (GATE Exam)- गेट परीक्षा का फुल फॉर्म ग्रेजुएट एप्टिट्यूट टेस्ट इन इंजीनियरिंग है (GATE Full Form). इंजीनियरिंग के मास्टर्स प्रोग्राम में दाखिले और PSU में सरकारी नौकरी के लिए इस परीक्षा का स्कोर मायने रखता है. यह दुनिया की 8वीं सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है. गेट परीक्षा का स्कोर 3 सालों तक वैलिड रहता है.

ये भी पढ़ें:
ठंड के चलते प्रशासन का बड़ा फैसला, बंद किए सभी स्कूल, फुल मौज में रहेंगे बच्चे

अफसर बनना है तो छोड़ें ये आदतें, पहली बार में होंगे पास, नोट करें IFS के टिप्स

Tags: Entrance exams, IAS exam, Sarkari Naukri, Upsc exam

Source link

Leave a Comment