आम जनता की आवाज

Search
Close this search box.

ग्राम साखन खुर्द: सफाई व्यवस्था की बदहाल स्थिति ने ग्रामीणों की बढ़ाई परेशानी

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं



ग्राम साखन खुर्द(सहारनपुर)की बदहाल स्थिति पर अब ग्रामीणों का सब्र टूट चुका है। गांव की गलियों में फैली गंदगी और सफाई कर्मचारियों की लापरवाही ने यहां की स्थिति को और भी विकट बना दिया है। सफाई अभियान के बावजूद गांव की सफाई व्यवस्था बिल्कुल चौपट हो गई है, जिससे बीमारियों का खतरा बढ़ गया है।

सफाई कर्मचारी आंख मूंद कर बैठे

गांव में सफाई कर्मचारियों की लापरवाही साफ देखी जा सकती है। सफाई व्यवस्था पर ध्यान न देने की वजह से गांव की गलियां गंदगी से भरी पड़ी हैं। कचरे के ढेर और पानी का जमाव बीमारियों को न्योता दे रहे हैं, जिससे ग्रामीणों की समस्याएं दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही हैं।

पीएम मोदी के सफाई अभियान पर पलीता

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चलाए गए स्वच्छ भारत अभियान का यहां पर अधिकारी और सफाई कर्मचारी सही तरीके से पालन नहीं कर रहे हैं। गांव के निवासियों का कहना है कि अधिकारियों की अनदेखी और सफाई कर्मचारियों की लापरवाही के कारण गांव की सफाई व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है।

ग्रामीणों की अपील

ग्राम साखन खुर्द के निवासी इस बदहाल स्थिति से बेहद परेशान हैं। उनका कहना है कि अगर जल्द ही सफाई व्यवस्था में सुधार नहीं किया गया तो बीमारियों का प्रकोप बढ़ सकता है। ग्रामीणों ने अधिकारियों से तुरंत कार्रवाई की मांग की है और गांव की सफाई व्यवस्था को सुधारने की अपील की है।

निष्कर्ष

ग्राम साखन खुर्द की यह स्थिति साफ तौर पर दिखाती है कि यहां पर सफाई अभियान को गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है। यदि अधिकारियों और सफाई कर्मचारियों ने जल्द ही इस ओर ध्यान नहीं दिया, तो इसका गंभीर असर गांव के स्वास्थ्य और जीवन स्तर पर पड़ सकता है। ग्रामीणों की समस्याओं को देखते हुए अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से उचित कदम उठाने चाहिए, ताकि गांव की सफाई व्यवस्था सुधर सके और गांव एक बार फिर से स्वस्थ और स्वच्छ बन सके।

Leave a Comment