आम जनता की आवाज

Search
Close this search box.

प्राण प्रतिष्ठा के बाद भावुक हुए पीएम मोदी, बोल- राम विवाद नहीं, राम समाधान हैं

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

प्राण प्रतिष्ठा के बाद भावुक हुए पीएम मोदी, बोल- राम विवाद नहीं, राम समाधान हैं

लखनऊ । अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी संतों को प्रणाम व रामभक्तों को राम राम कहा। बोले- सदियों की प्रतिक्षा और त्याग के बाद हमारे राम आ गये है। इस शुभ घड़ी की समस्त देश वासियों को बहुत-बहुत बधाई हो। कितना कुछ कहने है लेकिन कंठ अवरूध है। मेरा चित अभी भी उस पल में लीन है। हमारे रामलला अब टेंट में नहीं रहेंगे। अब राम लला दिव्य मंदिर में रहेंगे। मेरा पक्का विश्वास व श्रद्धा है कि यह जो काम हुआ है । इसको लेकर पूरा देश उत्साहित है। 22 जनवरी 2024 का यह सूरज एक अद्भुत सूरज एक आभा लेकर आया है। कैलेंडर पर लिखी यह तारीख नहीं बल्कि नये काल का उद्गम है। मंदिर का निर्मणा कार्य देखकर देश वासियों में एक नय उत्साह पैदा हो रहा था। यही वजह है कि आज हमे श्रीराम का मंदिर मिला है। आज से हजार साल बाद भी लोग आज की इस तारीख और इस दिन की चर्चा करेंगे।

पीएम ने देरी के लिए प्रभु श्रीराम से मांगी क्षमा याचना

पीएम मोदी ने कहा कि आज दिन दिशाये सब दिव्यता से परिपूर्ण है। यह समय समान्य समय नहीं है। साथियों में हम सब जानते है जहां राम का काम होता है । वहां पवन पुत्र हनुमान जरूरत विराजमान होतो है। इसलिए हनुमानगढ़ी और हनुमान को प्रणाम करता है। दिव्य चेतनाओं को कृतज्ञता पूर्वक नमन करता हूं। मैं आज प्रभु श्रीराम से क्षमा याजना भी करता हूं। चूंकि हमारे पुरषार्थ में कुछ कमी रह गई होगी जो इतनी सदियों तक यह काम कर नहीं पाये। आज वह कमी पूरी हो गई है। मुझे विश्वास है कि प्रभु राम आज हमे अवश्य क्षमा करेंगे। मेरे प्यारे देश वासियों त्रेता में राम के आगमन पर सब अध्योध्या व समस्त देश वासी हर्ष से भर गऐ। उनके ऊपर जो आपत्ति आयी थी सभी का अंत हाे गया। संबोधन के दौरान कई बार भावुक नजर आ प्रधानमंत्री मोदी। Read More…

न्यायपालिका ने न्याय की लाज रख ली : पीएम

पीएम मोदी ने कहा कि इस युग अयोध्या व देश वासियों ने सैकड़ों वर्षो का वियोग सहा है। भारत के संविधान के पहले प्रति में भगवान श्रीराम विराजमान हूँ। मैं अभार व्यक्त करुंगा भारत की न्याय पालिका की। जिसने न्याय की लाज रख ली। आज गांव गांव में एक साथ किर्तन हो रहे है। मंदिरों में उत्सव हो रहे है। पूरा देश आज दीपावली मना रहा है। आज शाम को हर घर-घर राम ज्योति की तैयारी चल रही है। अपने ग्यारह दिन के व्रत अनुष्ठान के दौरान उन स्थानों पर गये जहां प्रभु श्रीराम के चरण पड़े। बड़ा सौभाग्य है कि मुझे सागर से सरयू तक जाने का अवसर मिला। प्रभु राम तो भारत के आत्मा के कण -कण तक जुड़े है। राम सर्वत्र समाये हुए है। Read More…

मोदी ने कहा कि प्राचीन काल से भारत के हर कोने के लोग राम रस का आचमन करते रहे है। राम के आर्दश व मूल, शिक्षाएं सभी एक समान है। राम के इस काम में कितने लोगों ने त्याग की पराकाष्ठा करके दिखाई है। एेसे लोगों के हम सभी ऋणी है। यह क्षण भारतीय समाज के परिपक्का का है। हमारा भविष्य हमारे अतीत से बहुत सुदर होने जा रहा है। पहले लोग कहते थे कि राम मंदिर बना तो आग लग जाएगी। वह लोग आपसी सदभाव को नहीं समझ पाये। राम मंदिर समाज के हर वर्ग को आगे बढ़ने की प्रेरणा को लेकर आया है। राम आग नहीं राम ऊर्जा है, राम विवाद नहीं राम समाधान है। Read More…

प्रधानमंत्री मोदी बोले- अब काल चक्र फिर बदलेगा

पीएम मोदी ने कहा कि राम हमारे नहीं राम सबके है। राम वर्तमान ही नहीं राम अनंतकाल है। आज राम के इस कार्यक्रम से पूरा विश्व जुड़ा है। यह प्राण प्रतिष्ठा सर्वोच्च आर्दशों की प्राण प्रतिष्ठा है। यह मंदिर मात्र देव मंदिर नहीं भारत के दिग्दर्शन का मंदिर है। राम भारत की आस्था है राम भारत का आधार है। राम भारत की प्रतिष्ठा है राम प्रभाव, राम नीति भी, राम निरतंत्र, राम विश्वआत्मा है। इसलिए राम की प्रतिष्ठा होती है तो उसका प्रभाव हजारों वर्षो के लिए होता है। श्रीराम मंदिर तो बन गया और आगे क्या जो दैवीय आत्मा हमे देख रही है उन्हें कैसे विदा करेंगे। आज हम महसूस कर रहे है कि काल चक्र बदल रहा है। यही समय है सही समय है। हमे आज से इस पवित्र समय से अगले एक हजार साल की नींव रखनी है। सभी देश वासी समर्थ, समक्ष भारत निर्माण की सौगंध लेते है। राम के विचार मानस के साथ ही जनमानस में भी हो।

ये भव्य राम मंदिर विकसित भारत का साक्षी बनेगा: पीएम

पीएम ने कहा कि हमें अंत: कलह की चेतना को विस्तार देना होगा। हनुमान जी की सेवा व समर्थन के भाव को सीखने की जरूरत है। मां सबरी कब से कहती थी कि राम आएंगे।प्रत्येक भारतीय में यह विश…

 

Leave a Comment