आम जनता की आवाज

Search
Close this search box.

14 वर्ष से कम आयु के नौ बच्चों को रेस्क्यू किया गया।

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

बाल श्रम के खिलाफ गठित जिला स्तरीय टास्क फोर्स ने मंगलवार को सेलाकुई में हॉस्टल, ढाबों और मोटर सर्विस सेंटर में छापा मारा। इस दौरान 14 वर्ष से कम आयु के नौ बच्चों को रेस्क्यू किया गया।

टीम ने एक हॉस्टल संचालक और चार दुकानदारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया है।

जिलास्तरीय टास्क फोर्स ने थाना पुलिस के साथ सेलाकुई में बाल श्रम के खिलाफ अभियान चलाया। इस दौरान निगम रोड स्थित एक हॉस्टल में दो बच्चे कार्य करते हुए मिले। उन्हें बिहार से लाया गया था। बच्चे हॉस्टल में गंदगी और दुर्गंध के बीच कार्य कर रहे थे। टीम ने दोनों बच्चों को रेस्क्यू किया। उसके बाद टीम ने सेलाकुई में बिरयानी के ढाबों और मोटर सर्विस सेंटर में छापा मारा। इस दौरान चार दुकानों में सात बच्चे कार्य करते हुए मिले। टीम ने सातों बच्चों को रेस्क्यू कर अपने संरक्षण में ले लिया। बचपन बचाओ आंदोलन के राज्य समन्वयक सुशील उनियाल ने हॉस्टल, ढाबा संचालक और मोटर सर्विस सेंटर मालिकों के खिलाफ थाने में तहरीर दी है।

थाना प्रभारी सेलाकुई शैंकी कुमार ने बताया कि निगम रोड स्थित हॉस्टल संचालक बालमुकुंद तिवारी, मोटर सर्विस सेंटर व ढाबा संचालक निगम रोड निवासी मोहम्मद मुस्तकीम, मेन बाजार निवासी कमरुद्दीन, सेलाकुई निवासी हाशिम, मिलन चौक निवासी गुलफाम के खिलाफ बाल श्रम अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। बताया कि मामले की जांच चल रही है। बच्चों को बाल संरक्षण समिति के समक्ष प्रस्तुत कर परिजनों को सौंपने की प्रकिया चल रही है।

Leave a Comment