आम जनता की आवाज

Search
Close this search box.

विश्व संवाद केंद्र में पत्रकार होली मिलन समारोह का आयोजन,खेली फूलों की होली

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

विश्व संवाद केंद्र में पत्रकार होली मिलन समारोह का आयोजन,खेली फूलों की होली

देहरादून में विश्व संवाद केंद्र ने होली मिलन समारोह का आयोजन किया गया। इस समारोह में आरएसएस उत्तराखंड के प्रांत प्रचारक डॉ शैलेन्द्र कुमार भी उपस्थित थे। इसी दौरान समारोह में सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन हुआ। डॉ शैलेन्द्र ने इस मौके पर उम्मीद और गर्व के साथ बताया कि आज दुनिया भारत की ओर उम्मीद से देख रही है और विश्व पटल पर भारत की स्थिति मजबूत हुई है।

होली मिलन समारोह में वक्ताओं ने गायन की मधुर प्रस्तुति कर सभी का मन मोहा। समारोह के माध्यम से सामूहिक एकता और समरसता का संदेश दिया गया। यहाँ पर लोगों ने एक-दूसरे के साथ खुशियों का जश्न मनाया और एक-दूसरे को गुलाल लगाकर होली की शुभकामनाएं दी।

समारोह में उपस्थित लोगों ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियों का आनंद लिया और विभिन्न गीतों के माध्यम से एक-दूसरे के साथ मिलकर खुशियाँ मनाई। समारोह की महत्त्वाकांक्षा थी कि समाज में एकता और सामरस्ता का भाव बढ़े और लोग एक-दूसरे के साथ खुशहाली का संदेश दें।

इस समारोह में प्रस्तुत गीतों ने उत्साह और आनंद का माहौल बनाया और लोगों को हर्षित किया। समारोह के दौरान खास ध्यान दिया गया कि कोई भी व्यक्ति अपने आप को समाज में समरस और खुशहाल बनाए रखे।

प्रान्त प्रचार प्रमुख संजय कुमार ने बताया कि इस खास अवसर पर सामूहिक भावनाओं को महत्व दिया गया और समरसता की मिशाल प्रस्तुत की गई। समारोह के समापन में लोगों ने एक-दूसरे को होली की शुभकामनाएं दीं और एक-दूसरे के साथ प्यार और समरसता का संदेश दिया।

विश्व संवाद केंद्र में बलदेव पराशर ने बताया कि फूलों की होली का आयोजन किया गया। समारोह में खेली गई फूलों की होली ने आत्मा में नई ऊर्जा का संचार किया। इस खास अवसर पर लोगों ने बहुत धूमधाम से खेली फूलों की होली और एक-दूसरे को रंग लगाया। समारोह में हर व्यक्ति ने खुशियों का संग्रह किया और सामूहिक रूप से होली का उत्सव मनाया। फूलों की होली ने सामूहिक एकता और भाईचारे की भावना को मजबूत किया। इस महोत्सव ने लोगों के दिलों में खुशियों की बौछार बरसाई और समाज में एकता का संदेश दिया। फूलों की होली का आयोजन एक सामाजिक संगठन के तत्वावधान में हुआ और सभी वर्गों के लोगों को एक साथ लाने का प्रयास किया गया।

Leave a Comment