आम जनता की आवाज

Search
Close this search box.

फर्जी हलाल प्रमाण पत्र जारी कर अवैध वसूली करने वाले चार सदस्य गिरफ्तार

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

फर्जी हलाल प्रमाण पत्र जारी कर अवैध वसूली करने वाले चार सदस्य गिरफ्तार

लखनऊ एसटीएफ यूपी को थाना हजरतगंज, कमिश्नरेट पर दर्ज कई मुकदमों में विभिन्न कम्पनियों को अवैध रूप से हलाल प्रमाण पत्र जारी कर धोखाधड़ी के माध्यम से लाखों रुपयों की वसूली करने वाले चार अभियुक्तों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त हुई। एसटीएफ ने इनके कब्जे से चार आधार कार्ड, चार पैन कार्ड, तीन मोबाइल फोन, चार एटीएफ कार्ड, तीन ड्राइविंग लाइसेंस, एक आरसी, एक वोटर कार्ड तथा  21,820 रुपये नकद बरामद किया है।

इन अभियुक्तों को एसटीएफ ने किया गिरफ्तार

अभियुक्तों का नाम मौलाना हबीब युसुफ पटेल निवासी स्काॅटर्स काॅलोनी, चिंचोली गोट, पटेल मस्जिद के पास सुबुरबान, मुम्बई महाराष्ट्र (अध्यक्ष), मौलाना मुइदशीर सपाडिआ पुत्र इकबाल सपाडिआ बी-303 फिरदौस पार्क एसवी रोड नेक्स साबरी मस्जिद जोगेश्वरी वेस्ट महराष्ट्र (उपाध्यक्ष), मो. ताहिर जाकिर हुसैन चैहान पुत्र जाकिर हुसैन हील पार्क बी-1 टाॅवर कैप्टन सुरेष समांत मार्ग जोगेष्वरी वेस्ट मुम्बई (जनरल सेक्रेटरी), मोहम्मद अनवर पुत्र मोहम्मद अली खान निवासी ग्रीन लाॅन्स, कपड़ा बाजार रोड मुम्बई महाराष्ट्र है।

सभी पकड़े गए सदस्य हलाल काउंसिल ऑफ इण्डिया के हैं सदस्य

उल्लेखनीय है कि कुछ कम्पनियों द्वारा जैसे हलाल इण्डिया प्राइवेट लिमिटेड चेन्नई, जीमयत उलेमा हिन्द हलाल ट्रस्ट दिल्ली, हलाल काउंसिल आॅफ इण्डिया मुम्बई आदि ने विभिन्न उत्पादों पर उसकी ब्रिकी बढ़ाने के उद्देश्य से आर्थिक लाभ लेकर छल करते हुए हलाल प्रमाण पत्र विभिन्न उत्पादन के लिए निर्गत किये गये है। इस सम्बन्ध में थाना हजरतगंज, कमिश्नरेट  पर कई धाराओं में मुकदमा दर्ज हुआ था। जिसकी विवेचना विशेष पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था के पत्र 20 नंवबर 2023 द्वारा एसटीएफ को स्थानान्तरित की गयी थी। जिसकी विवेचना दीपक कुमार सिंह, पुलिस उपाधीक्षक के पर्यवेक्षण में की जा रही थी।

फर्जी प्रमाण पत्र जारी कर करते थे वसूली

विवेचना के क्रम में सोमवार को हलाल काउंसिल ऑफ इण्डिया, मुम्बई के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महासचिव, कोषाध्यक्ष को अपना बयान अंकित कराने एसटीएफ कार्यालय लखनऊ बुलाया गया, इनके बयान से ज्ञात हुआ कि कई कम्पनियों को हलाल सम्बन्धी प्रमाण पत्र जारी किये गये है, उनके अवलोकन एवं पूछताछ से निम्न बाते प्रकाश में आयी।  हलाल काउंसिल ऑफ इण्डिया, मुम्बई द्वारा अवैध रूप से हलाल सर्टिफिकेट मीट व मीट प्रोडक्ट के अतिरिक्त अन्य खाद्य पदार्थों पर भी जारी किया जा रहा है। हलाल काउंसिल ऑफ इण्डिया, मुम्बई द्वारा इसके लिए प्रति वर्ष सर्टिफिकेट व प्रति प्रोडक्ट अलग अलग कम्पनी से अलग अलग रूपये लेती है। जिसमें से लगभग 10 हजार रूपये सर्टिफिकेट व 1 हजार रूपये प्रति प्रोडक्ट के लिए चार्ज करते हैं।

किसी भी प्रोडक्ट का लैब टेस्ट नहीं करवाया गया

हलाल काउंसिल ऑफ इण्डिया, मुम्बई को एनएबीसीबी (प्रमाणन निकायों के लिए राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड)व अन्य किसी सरकारी संस्था द्वारा हलाल प्रमाण पत्र जारी करने के लिए अधिकृत नहीं किया गया है। हलाल काउंसिल ऑफ इण्डिया, मुम्बई द्वारा विभिन्न कम्पनियों को देश व विदेश में अपने प्रोडक्ट को बेचने के लिए हलाल प्रमाण पत्र जारी किया जाता है। जिसके लिए यह अधिकृत नहीं हैं।विवेचना के क्रम में हलाल काउन्सिल आफ इण्डिया, मुम्बई द्वारा जारी हलाल प्रमाण पत्र धारी कम्पनियों के मालिक एवं कर्मचारियों से पूछताछ करने पर उनके द्वारा बताया गया कि काउन्सिल आफ इण्डिया, मुम्बई द्वारा हलाल प्रमाण पत्र जारी करने के लिए किसी भी प्रोडक्ट का लैब टेस्ट नहीं करवाया गया है।

सदस्यों से पूछताछ के दौरान कंपनी का नाम आया सामने

इन लोगों द्वारा कम्पनी में आकर किसी भी प्रोडक्ट का सैम्पल जांच के लिए लिया गया और न ही हलाल काउसिंल का कोई भी सदस्य पूछताछ के लिए कम्पनी में आया।
इस प्रकार हलाल काउन्सिल आफ इण्डिया, मुम्बई द्वारा हलाल प्रोडक्ट के उपभोक्ताओं को बिना किसी जांच के व बिना किसी लैब टेस्ट के केवल ‘‘हलाल’’ का लोगो देकर जबरन वसूली की जा रही है। अनावश्यक रूप से एक अलग प्रकार का वित्तीय बोझ कम्पनियों पर डाला जा रहा है। इनके द्वारा जारी किये गये हलाल प्रमाण पत्र के अवलोकन से यह भी जानकारी मिली कि रेस्टोरेन्ट इत्यादि को भी इनके द्वारा हलाल प्रमाण पत्र दिया गया है, जबकि रेस्टोरेन्ट द्वारा परोसी जाने वाली खाद्य सामग्री के बनने के तरीके एवं उपलब्ध सामानों पर इनका कोई नियंत्रण नहीं है।

एसटीएफ ने चारों को हजरतगंज पुलिस के किया हवाले

जिससे यह पता चलता है कि यह लोग मनमानी तरीके से केवल पैसा लेने के उद्देश्य से हलाल प्रमाण पत्र जारी करते है। साथ ही इस प्रकार से प्राप्त आय-व्यय का कोई जानकारी नहीं दे सके।विवेचना के आधार पर बयानों व प्राप्त दस्तावेजों की जांच करने पर हलाल काउंसिल ऑफ इण्डिया, मुम्बई एनएबीसीबी (प्रमाणन निकायों के लिए राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड)  व अन्य किसी सरकारी संस्था द्वारा हलाल प्रमाण पत्र जारी करने के लिए अधिकृत नहीं पाया गया। जिसके आधार पर हलाल काउन्सिल आफ इण्डिया, मुम्बई के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महासचिव व कोषाध्यक्ष को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तार अभियुक्तों को थाना हजरतगंज में मुकदमा दर्ज कराया जा रहा है।

Leave a Comment