आम जनता की आवाज

Search
Close this search box.

गोधरा दंगों का बदला लेने के लिए ISIS की खतरनाक साजिश, पूरे गुजरात में था सीरियल ब्लास्ट का प्लान, आतंकी का बड़ा कुबूलनामा

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

हाइलाइट्स

ISIS के आतंकी शाहनवाज आलम ने बड़ा कुबूलनामा किया है.
ISIS का गुजरात में सीरियल ब्लास्ट का प्लान था.

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस के हाथ लगे ISIS के आतंकवादी से कई बड़े खुलासे हुए हैं. पुलिस को जानकारी मिली है कि आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट गुजरात के गोधरा में हुए दंगों का बदला लेने के लिए पूरे राज्य में सिलसिलेवार बम ब्लास्ट करवाने की योजना बना रहा था.

हाल में पकड़े गए ISIS के आतंकी शाहनवाज आलम ने पुलिस के समक्ष यह बात कबुल की है कि गुजरात के अहमदाबाद, गांधी नगर, सूरत, बडोदरा सहित कई प्रमुख शहर आतंकियों के निशाने पर थे. शाहनवाज आलम ने दिल्ली पुलिस को बताया कि उसका संगठन गुजरात के बीजेपी मुख्यालय, आरएसएस मुख्यालय, विश्व हिंदू परिषद मुख्यालय, हाईकोर्ट, जिला कोर्ट, विश्वविद्यालय, मंदिर, मस्जिद, यहूदी पूजा स्थल, रेलव स्टेशन, भीड़भाड़ वाले बाजार और राज्य के प्रमुख व्यक्तियों के घर तथा उनके आने-जाने वाले रास्तों को निशाना बनाकर विस्फोट करने की योजना बना रहा था.

पढ़ें- मालदीव के उच्चायुक्त को भारत ने किया तलब, PM मोदी पर अपमानजनक टिप्पणी पर जताई नाराजगी

ऐसे की थी रेकी
प्राप्त जानकारी के अनुसार इसके लिए आतंकवादियों ने इन जगहों की रेकी की और फोटोग्राफी तथा वीडियोग्राफी भी की. पुलिस को मिली जानकारी के अनुसार, आतंकी किराए की बाइक और स्कूटर से पूरे इलाके के रेकी कर रहे थे. बोहरा की मस्जिद, दरगाह, अहमदाबाद की मजार, दरगाह, साबरमती आश्रम सहित कई स्थानों की तस्वीरें खींची गईं और वीडियोग्राफी करवाई गई.

आतंकी शाहनवाज आलम ने बताया कि अपने हैंडलर अबु सुलेमान के कहने पर अपने साथी रिजवान अली जो फरार है और इमरान के साथ मिलकर अहमदाबाद, बडोदरा और सूरत को घेरने का फैसला किया था. क्योंकि गुजरात पीएम का गृह राज्य है और गोधरा दंगे का बदला लेने ISIS ने यह प्लान तैयार किया था.

जनवरी 2023 में दो दिनों के लिए आतंकी ट्रेन से अहमदाबाद पहुचे थे. जहां बकायदा इन रेलवे स्टेशन, सिनेमा हॉल, विश्वविद्यालय, VIP और VVIP मार्ग, राजनेताओं के घर, भीड़-भाड़ वाले बाजार, बोहरा समुदाय की मस्जिद, दरगाह, अहमदाबाद के मजार, साबरमती आश्रम की फोटोग्राफी वीडियोग्राफी की. साथ ही उन्होंने रेकी करने के लिए एक बाइक भी किराए पर ली थी.

यह भी पढ़ें- ‘माफी मांगते हैं…’ मालदीव के पूर्व उपराष्ट्रपति ने PM मोदी को बताया वर्ल्ड लीडर, कहा- भारत के बिना नहीं बढ़ सकते आगे

इसके बाद गांधीनगर में अगली सुबह आतंकियों ने RSS कार्यलय, VHP कार्यलय, BJP कार्यलय, गुजरात हाईकोर्ट, और जिला सेशन कोर्ट की रेकी की. इन तमाम महत्वपूर्ण जगहों की फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी भी की. इसके बाद आतंकी बडोदरा पहुंचते हैं, जहां उन्होंने रेलवे स्टेशन के पास एक होस्टल में किराए पर कमरा लेते हैं. अगले दिन एक किराए की स्कूटी से जिला कोर्ट, सिविल कोर्ट, रेलवे स्टेशन की रेकी कर इन तमाम जगहों की वीडियो और फोटो लेते हैं.

फिर उसी शाम ट्रेन से सूरत का रुख करते हैं. आतंकी वहां पर फिर किराए पर एक स्कूटी लेते हैं. सूरत रेलवे स्टेशन के पास एक किराए का कमरा लिया जाता है. और फिर सूरत शहर की रेकी की जाती है. यहां सूरत में यहूदियों केंद्र की तस्वीरों को खींचा जाता है और वीडियोग्राफी की जाती है. सूरत का हीरा बाजार, जिला अदालत, इस्कॉन मंदिर सहित करीब 7 मन्दिरों की रेकी की जाती है.

इसके बाद आतंकी मुंबई लौट आए और पुणे में जाकर तमाम जगहों की फोटोग्राफ और वीडियो की PPT फाइल तैयार की और अबु सुलेमान को भेज दी. शाहनवाज आलम के मोबाइल फोन से बम बनाने की दर्जनों तस्वीरों को बरामद किया गया है.

ISIS पुणे मॉड्यूल का संदिग्ध आतंकी 31 साल का शाहनवाज आलम हजारीबाग का रहने वाला है. उसका कोड नाम अब्दुल्लाह, इब्राहीम और प्रिंस है. उसने NIT नागपुर से B-Tech की पढ़ाई की है. शाहनवाज के मुताबिक उसकी पत्नी एक हिन्दू थी जिसे उसने इस्लाम धर्म कबूल करा के मुस्लिम बनाया. दोनों की मुलाकात AMU में हुई और उसकी पत्नी भी आतंकी गतिविधियों में शामिल हो गई.

ये था शहनावाज का गुरू
शाहनवाज ने बताया की उसने अपनी माली हालत ठीक करने के लिए हजारीबाग में करीब 7 से 8 आपराधिक वारदातों को अंजाम भी दिया और उसके बाद वह जिहाद के लिए तैयार होने लगा. शाहनवाज का गुरु अनबर अवलाकी था. अनबर अल कायदा का टॉप मोस्ट आतंकी US की आर्मी स्ट्राइक में मारा गया था. शाहनवाज से प्रभावित हुआ और उस पर आतंकी बनने का जुनून सवार हुआ और फिर वो ऑनलाइन साइट्स पर रेडिक्लाइज मुस्लिम के ग्रुप्स और ISIS के हैंडलर से जुड़ गया. बता दें की दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने ISIS के तीन आतंकियों शाहनवाज आलम, मोहम्मद रिजवान अशरफ और मोहम्मद अरशद बारशी को गिरफ्तार किया था. गुजरात रेकी में शाहनवाज आलम के साथ इमरान जिसे पुणे पुलिस ने गिरफ्तार किया था और यनुस साकी जिसे भी पुणे पुलिस ने गिरफ्तार किया था दोनों शामिल थे.

Tags: Gujarat, ISIS

Source link

Leave a Comment